Tuesday, May 29, 2018

इंदौर में 23-24 फरवरी में आयोजित होगा जी.आई.एस. 2019


प्रेस विज्ञप्ति नई दिल्ली, 29 मई, 2018. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने आज यहां ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2019 के लिए आयोजित काॅर्टन रेजर कार्यक्रम में दो वेबपोर्टल - जी.आई.एस. 2019 और इन्वेस्ट एम.पी. पोर्टल जारी किये। श्री चैहान ने उपस्थित राजनयिकों और उद्योगपतियों से मध्यप्रदेश आने का न्यौता दिया और निवेश के लिए आमंत्रण दिया। इस अवसर पर प्रदेश के वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ला, उद्योग विभाग के प्रमुख सचिव मोहम्मद सुलेमान, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री एस.के. मिश्रा सहित केन्द्र और राज्य के कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। जी.आई.एस. 2019 आगामी 23-24 फरवरी 2019 को इंदौर में होना निश्चित हुआ है। श्री चौहान ने मध्यप्रदेश में हो रहे चहुमुंखी विकास के बारे में विस्तार से बताया और उपस्थित उद्योगपतियों एवं राजनयिकों को प्रदेश में उद्योग लगाने का निमंत्रण दिया। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश में अपार संभावनाएं हैं। खनिज संपदा के साथ-साथ प्रदेश की अधोसंरचना को पूर्णरूप से विकसित किया जा चुका है। ऊर्जा के क्षेत्र में मध्यप्रदेश सरप्लस राज्य है। सड़कों का पूरे प्रदेश में जाल बिछाया गया है। पानी प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। सिंचित जमीन 40 लाख हेक्टेयर से भी अधिक है। कृषि के क्षेत्र में मध्यप्रदेश ने लगातार पांच साल कृषि कर्मण अवार्ड जीतकर नये कीर्तिमान स्थापित किये हैं। कृषि उत्पाद दर पिछले कई सालों से 20 से ऊपर पाई गई है। प्रदेश की ग्रोथ रेट पिछले सात सालों में डबल डिजिट में है। इसके साथ-साथ प्रदेश की नौकरशाही हमेशा मददगार एवं सहायक सिद्ध हुई है। प्रदेश में कुशल मैनपावर हमेशा उपलब्ध है। कुल मिलाकर प्रदेश की भौगोलिक स्थिति, अधोसंरचना और राजनीतिक स्थिरता निवेश के माहौल के लिए अन्य राज्यों की तुलना में बेहतर है। इसके पहले वाणिज्य एवं उद्योगमंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ला ने उद्योगपतियों को संबोधित किया और बताया कि इन्वेस्ट पोर्टल एम.पी. के जरिये निवेशक छह विभाग और 22 सेवाओं से सीधे जुड़ जाता है और उसे पोर्टल के माध्यम से सीधे सभी प्रकार की जानकारियां सुलभ घर बैठे ही प्राप्त हो जाती हैं और किसी भी प्रकार की असुविधा नहीं होती है। प्रमुख सचिव वाणिज्य एवं उद्योग मोहम्मद सुलेमान ने दृश्य एवं श्रव्य माध्यम से दोनों वेब पोर्टल के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

No comments:

Post a Comment